मध्य प्रदेश पुलिस ने ऑनलाइन गांजा बेचने के मामले में अमेज़न अधिकारियों के ख़िलाफ़ दर्ज की एफ़आईआर


मध्य प्रदेश के भिंड ज़िले में पुलिस ने शनिवार को गांजा तस्करी के एक मामले में अमेज़न के कार्यकारी निदेशकों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है.

पुलिस ने हाल ही में एक गांजा तस्करी रैकेट का भंडाफोड़ किया था. हालांकि, अमेज़न ने कहा था कि वह अपने प्लेटफॉर्म पर अवैध चीजों को अनुमति नहीं देता है.

ज़िले के एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया, “एनडीपीएस एक्ट के सेक्शन 38 के तहत अमेजन इंडिया के कार्यकारी निदेशकों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है जो भारत में एएसएसएल के रूप में काम करता है.”

सिंह ने बताया है कि इस एफआईआर में किसी व्यक्ति को नामज़द नहीं किया गया है.

एसपी सिंह ने बताया है कि बीती 13 नवंबर को ग्वालियर के रहने वाले बिजेंदर तोमर और सूरत उर्फ कल्लू पवय्या से 21.7 किलोग्राम गांजा बरामद करने के बाद भिंड ज़िले के गोहद थाने में एनडीपीएस के तहत मामला दर्ज किया गया था. इन लोगों से पूछताछ के बाद ग्वालियर के रहने वाले मुकुल जायसवाल और ख़रीदार चित्रा बाल्मिकी को गिरफ़्तार किया गया.

“इसके बाद जांच में सामने आया है कि पवय्या और जायसवाल ने बाबू टेक्स नाम से एक कंपनी बनाई और उसे अमेज़न पर एक सेलर के रूप में पंजीकृत कराया. इसके बाद उन्होंने विशाखापट्टनम से पूरे देश में स्टेविया के नाम पर गांजा सप्लाई किया.”


0
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *