अपनी कार से हर महीने कमा सकते हैं 30000, बिना झंझट के ऑफर है एकदम सीधा


Zoomcar ने वाहन मालिकों के लिए एक बेहद फायदेमंद प्रोग्रम पेश किया है जिसके अंतर्गत आप अपने निजी वाहन को लिस्ट कर हर महीने औसत 20,000 से 30,000 रुपये कमा सकते हैं. जानें कैसे होगा संभव.

खुद कारें चलाने के लिए किराये पर देने वाले प्लेटफॉर्म जूमकार ने एक प्रोग्राम लॉन्च किया है जिसका नाम व्हीकल होस्ट प्रोग्राम है. इस प्रोग्राम के अंतर्गत कंपनी निजी वाहन मालिकों को अपना वाहन जूमकार पर लिस्ट करने का ऑफर दिया है जिसके लिए वाहन मालिकों को हर बुकिंग पर रेवेन्यू का एक हिस्सा दिया जाएगा. कंपनी पिछले 6 महीने से एक पायलेट प्रोजेक्ट पर काम कर रही है और जूमकार का दावा है कि उसके पास 5,000 कारें अलग-अलग शहरों से लिस्ट हो चुकी हैं. इन 8 शहरों में बेंगलुरु, दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, गोआ, कर्नाटक और पुणे शामिल हैं. अब जूमकार का लक्ष्य इस आंकड़े को अगले 12 महीनों के भीतक 100 शहरों में 50,000 कारों के पार पहुंचाने का है.

कुल राशि का 60% मालिक का

वाहन मालिकों को रेवेन्यू के अलावा जूमकार रेटिंग के हिसाब से इंसेंटिव अलग से देने वाली है. इस बारे में बिजनेसलाइन से बात करते हुए जूमकार के सीईओ और को-फाउंडर ग्रेग मॉरन ने कहा, -प्रारंभिक दौर में कार मालिकों ने औसत 20,000 से 30,000 रुपये हर महीने कमाए हैं. इस प्रोग्रम के अंतर्गत वाहन मालिकों/होस्ट को रेवेन्यू दिया जाता है जिसमें कुल राशि का 60 प्रतिशत मालिक को जाता है, वहीं बाकी 40 प्रतिशत जूमकार रखता है.- बता दें कि जूमकार का मुख्यालय बेंमलुरु में है और ये ग्राहकों को खुद चलाने के लिए कार किराये पर देती है जिसमें एक घंटे या एक दिन के अलावा कई दिनों के लिए भी कार को किराये पर लिया जा सकता है.

1 साल में पब्लिक कंपनी बनने की भी चाह

बताया गया है कि जूमकार पिछले 3 साल में काफी मुनाफे में रही है. हालांकि कंपनी फिहलाल मुनाफे की जगह विस्तार करने पर अपना ध्यान लगा रही है. जूमकार ने हाल में फिलिपींस, इजिप्ट, वियतनाम और इंडोनेशिया में अपनी सुविधाएं पेश की हैं, वहीं भारत में भी कंपनी तेजी से आगे बढ़ने का प्लान बनाकर चल रही है. कंपनी ने अगले 1 साल में 10 नए देशों में अपना काम काज शुरू करने का प्लान बनाया है. मॉरन ने आगे बताया कि हम विदेशों में विस्तार, आईटी और तकनीक पर तगड़ा निवेश कर रहे हैं. हम अगले 1 साल में पब्लिक कंपनी बनने की भी चाह रखते हैं जो हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है. तो फिलहाल हम काम बढ़ाने पर निवेश कर रहे हैं, साथ ही आपका फायदा भी बढ़ा रहे हैं.


0
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *