माइक्रोसॉफ्ट का बड़ा टेकओवर:कैंडीक्रश गेम बनाने वाली कंपनी को 5 लाख करोड़ रुपए में खरीदेगी माइक्रोसॉफ्ट


माइक्रोसॉफ्ट ने ‘कैंडीक्रश’ वीडियो गेम बनाने वाली कंपनी एक्टिविजन ब्लिजार्ड को 68.7 अरब डॉलर (5.14 लाख करोड़ रु.) में खरीदने का फैसला किया है। यह माइक्रोसॉफ्ट के 46 साल के इतिहास का सबसे बड़ा टेकओवर होगा। माइक्रोसॉफ्ट Xbox जैसे पॉपुलर गेमिंग कंसोल का भी ओनर है।

एक्टिविजन ब्लिजार्ड के गेम लाइनअप में कॉल ऑफ ड्यूटी, कैंडी क्रश, वॉरक्राफ्ट, डियाब्लो, ओवरवॉच और हार्थस्टोन शामिल हैं। माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार, यह डील मोबाइल, PC, कंसोल और क्लाउड पर उसके गेमिंग बिजनेस की ग्रोथ में तेजी लाएगा और मेटावर्स के लिए ‘बिल्डिंग ब्लॉक्स’ भी प्रोवाइड करेगा।

इस डील से माइक्रोसॉफ्ट को एक्टिविजन के लगभग 40 करोड़ मंथली गेमिंग यूजर्स मिलेंगे। इसके साथ ही दुनिया के कुछ सबसे लोकप्रिय गेम्स पर भी उसका अधिकार होगा। माइक्रोसॉफ्ट और एक्टिविजन के मिलने से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और प्रोग्रामिंग के क्षेत्र में भी इनोवेशन की उम्मीद है।

डील के बाद माइक्रोसॉफ्ट राजस्व के मामले में भी चीन की टेंसेंट और सोनी के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी गेमिंग कंपनी बन जाएगी। डील के 30 जून 2023 तक क्लोज होने की उम्मीद है। इस सौदे को नेक्स्ट जेनरेशन इंटरनेट, यानी मेटावर्स में दबदबा कायम करने की दिशा में माइक्रोसॉफ्ट का बड़ा कदम माना जा रहा है।

95 डॉलर/शेयर के हिसाब से पेमेंट करेगा माइक्रोसॉफ्ट
डील के ऐलान के बाद एक्टिविजन ब्लिजार्ड के शेयर में तेजी देखी जा रही है। मंगलवार को शेयर 26% बढ़कर 82.31 डॉलर पर पहुंच गया। डील के तहत, माइक्रोसॉफ्ट 45% प्रीमियम पर 95 डॉलर/शेयर के हिसाब से एक्टिविजन को पेमेंट करेगा।

एक्टिविजन ब्लिजार्ड के CEO बने रहेंगे बॉबी कोटिक
माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि डील के बाद भी बॉबी कोटिक एक्टिविजन ब्लिजार्ड के CEO बने रहेंगे। वह फिल स्पेंसर को रिपोर्ट करेंगे। हाल ही में उन्हें माइक्रोसॉफ्ट गेमिंग का CEO बनाया गया है।

कंपनी पर यौन उत्पीड़न और भेदभाव के आरोप
एक्टिविजन ब्लिजार्ड पर महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न और भेदभाव का आरोप लगा था। दावा किया गया था कि कंपनी ‘फ्रैट बॉय’ कल्चर को बढ़ावा देती है। ‘फ्रैट बॉय’ का मतलब महिलाओं को नीचा दिखाना और उनके साथ भेदभाव करना है।

इस मामले में कैलिफोर्निया प्रशासन ने 20 जुलाई 2021 को मुकदमा दायर किया था। एक्टिविजन ब्लिजर्ड के CEO बॉबी कोटिक को कंपनी में महिलाओं के साथ होने वाले गलत व्यवहार की काफी पहले से जानकारी थी। इसके बावजूद, उन्होंने माहौल को बेहतर बनाने के लिए कुछ खास कदम नहीं उठाए।


0
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *