प्रदेश के 331 स्कूलों में छात्रों के व्यवसायिक शिक्षा प्रदान करने को लेकर MOU

0

देहरादून: समग्र शिक्षा के अन्तर्गत प्रदेश के 331 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा के संचालन हेतु आज  राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा बंशीधर तिवारी एवं विजन इण्डिया सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के इण्डिया प्रमुख मोहित रस्तोगी के मध्य समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये।

व्यावसायिक शिक्षा के तहत प्रदेश में 331 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में 07 क्षेत्रों में छात्र – छात्राओं को व्यावसायिक शिक्षा में प्रवेश मिलेगा और भावी जीवन के लिए सम्बन्धित क्षेत्र में कौशल विकसित करने का अवसर प्राप्त होगा, एवं प्रदेश को भी कुशल मानवीय संसाधनों की प्राप्ति होगी । हस्ताक्षरित MoU के साथ ही 331 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में, 07 सेक्टर / ट्रेड एग्रीकल्चर, ऑटोमोटिव, व्यूटी एण्ड वेलनेस, आई-टी, इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड हार्डवेयर, टूरिज्म एण्ड हॉस्पिटेलिटी और प्लम्बर में व्यावसायिक शिक्षा का प्रशिक्षण करेंगे। ये सभी सेक्टर उत्तराखण्ड बोर्ड के विषयों में सम्मिलित हैं। ये सेक्टर / ट्रेड राज्य के सभी 13 जनपदों के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में संचालित होंगे अल्मोड़ा में 42 ट्रेड, बागेश्वर में 14 ट्रेड, चमोली में 23 ट्रेड, चम्पावत में 13 ट्रेड, देहरादून में 31 ट्रेड, पौड़ी में 18 ट्रेड, हरिद्वार में 15 ट्रेड, नैनीताल में 44 ट्रेड, पिथौरागढ़ में 29 ट्रेड, रूद्रप्रयाग में 13 ट्रेड, टिहरी में 41 ट्रेड, ऊधमसिंह नगर में 23 ट्रेड, एवं उत्तरकाशी में 25 ट्रेड, संचालित होंगे। कुल 331 ट्रेड / सेक्टर के लिए राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में सम्बन्धित सेक्टर के लैब की स्थापना की जायेगी एवं नवीन शैक्षिक सत्र
2024 – 25 में छात्र छात्राओं को उक्त ट्रेड में प्रवेश दिया जायेगा।

विदित हों कि वर्तमान में प्रदेश के 200 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में 255 ट्रेड/सेक्टर पूर्व से संचालित हैं। 331 नये विद्यालयों सहित प्रदेश के कुल 531 विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा को छात्र छात्राएं विषय के रूप में चयन कर सम्बन्धित ट्रेड / सेक्टर में कौशल विकसित कर लाभान्वित होंगे।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में बच्चों हेतु विभिन्न कौशल एवं दक्षताओं के विकास पर विशेष बल दिया गया है। छात्र छात्राएं अपेक्षित दक्षता अर्जित कर रोजगार प्राप्त करेंगे, साथ ही अपना स्वयं का भी व्यवसाय अपना सकते हैं और स्वावलम्बी बन सकते हैं।

समझौता ज्ञापन (एम०ओ०यू० ) में समग्र शिक्षा की ओर से आकाश सारस्वत उप राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा, प्रद्युमन सिंह रावत उप राज्य परियोजना निदेशक, एवं बी0पी0 मैन्दोली, स्टॉफ ऑफिसर समग्र शिक्षा, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed